महिला प्रेरक

मिलिए आंड्ररा तंशिरीन से – हॉकी विलेज की संस्थापक

मिलिए आंड्ररा तंशिरीन से – हॉकी विलेज की संस्थापक

मिलिए आंड्ररा तंशिरीन से – जिन्होने भारत में थ्री गाओं में बचों के लिए हॉकी कोचैंग शुरू की है. आंड्ररा जर्मनी की वासी है और हॉकी प्रोफेशनल रह चुकी है. बर्लिन हॉकी क्लब के लिए वह खेलती थी. एक चोट के वजह से उन्होने हॉकी खेल बंद किया और भारत में आ पहुँची. आंड्ररा के(…)

More

मेरी ज़िंदगी बदल गयी है: साक्षी मलिक

मेरी ज़िंदगी बदल गयी है: साक्षी मलिक

मेरी ज़िंदगी बदल गयी है. साक्षी मलिक शी द पीपल से एक ख़ास बात चीत में अपने रियो २०१६ के बेस्ट मोमेंट्स पर टिप्पणी देती है. एस्प्न के गौरव कालरा से इंटरव्यू मेइन साक्षी कहती है की उन्हे सबसे काफ़ी प्यार और प्रशंसा मिल रही है. कालरा ने पूछा की मेडल जीतना के तुरंत बाद(…)

More

हिलेरी क्लिंटन की प्रेरणादायक टिप्पणी

हिलेरी क्लिंटन की प्रेरणादायक टिप्पणी

लोग मुझे मेरे काम के बलबूते पर जड्ज कर सकते है. मैं इस बात से सहमत हूँ की मैं कौन हूँ और मेरा क्या वजूद है. हूमें उन लोगों की मदद करनी चाहिए जिन्हे सोसाइटी ने अलग समझा है और जिन्हे सपपोर्ट की ज़रूरत है माफी, दरवाजे फिर से खोलने का एक तरीका है हूमें(…)

More

सा रे जहाँ से अछा – एक नये रूप में, देश की महीलाओं के संग

सा रे जहाँ से अछा – एक नये रूप में, देश की महीलाओं के संग

इस स्वतंतरा दिवस शी द पीपल की यह ख़ास प्रस्तूति ‘ सा रे जहाँ से अछा’ – वैसे तो अन्य सेलेब्रिटी और बोल्लयऊूद के हीरो हेरोयिन देश के गाने गाते हुए दिहत्ते है किंतु यह प्रस्तूति आज तक नही पेश की गयी जहाँ महीलायें – उध्यामि, लेखक, गायक, बिज़्नेस वुमन, पत्रकार, टीचर, दुकानदार – एक(…)

More

अनु आचार्य डीयेने मॅपिंग से एक हेल्त रेवोल्यूशन पैदा करेंगी

अनु आचार्य डीयेने मॅपिंग से एक हेल्त रेवोल्यूशन पैदा करेंगी

उन्होने गेणोमेपाटरी नाम से डीयेने मॅपिंग टेस्ट का इन्वेन्षन किया. इसके ज़रिए पेशेंट उपने शरीर को बेहेतर समझ सकते है. अनु आचार्य भारत के जाने माने स्टारटूप्स फाउंडर्स में से एक है. यह स्टार्टाप मॅपमीजीनोम के नाम से जाना जाता है. आचार्य बीकानेर में पैदा हुई. ई ई टी से आचार्य ने पढ़ा और फिर मास्टर्स(…)

More

योग, चिकित्सा और अस्तित्व की एक कहानी: मिलिए प्रभा सिंह

योग, चिकित्सा और अस्तित्व की एक कहानी: मिलिए प्रभा सिंह

योग ऋग्वेद में अपनी जड़ों को पाता है, और पहली बार उत्तरी भारत के मैदानी इलाकों में इसका अभ्यास किया था। मिलिए प्रभा सिंह से जो 62 वर्षीय महिला है । वह लोगों को योग, ध्यान और योग शक्ति को जानने में मदद करती है । भारतीय योग जानकारों के अनुसार योग की उत्पत्ति भारत में लगभग(…)

More

क्या औरतो को ख़ास एमबीए की ज़रूरत है?

क्या औरतो को ख़ास एमबीए की ज़रूरत है?

अनुराधा दस माथुर एक जर्नलिस्ट से एंट्रेपरेणेउर बनी. वह वेदिका स्कॉलर्स प्रोग्राम की फाउनडिंग डीन है. यह महीलाओं के लिए ख़ास एमबीए स्कूल है, वेदिका स्कॉलर्स प्रोग्राम. यहाँ पे महीलाओं के लिए स्कूल मैं स्पेशल ट्रैनिंग दी जाती है. पढ़ाई के अलावा यहाँ पर अन्य सब्जेक्ट की ट्रैनिंग दीजाती है. अनुराधा का लक्ष्य है की(…)

More

भारतीय महिलाओं का आंदोलन और प्रकाशन

भारतीय महिलाओं का आंदोलन और प्रकाशन

उर्वशी बुटालिया भारत की सबसे पहले नारीवादी (फेमिनिस्ट) प्रकाशकों में से एक है- इन्हे ४० साल से भी ज्यादा प्रकाशन का अनुभव है. 1984 में ऋतू मेनोन क साथ मिलकर ‘काली फॉर वीमेन’ की सह-संस्थापना की.

More

Share Your Story

Discussions

Blogs

Events