About the Video

अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने अपनी बेहतरीन काम की मदद से बॉलीवुड में अपनी सफल जगह बना ली है. टिस्का को बॉलीवुड में २३ साल हो चुके हैं. हाली में उन्होंने एक शार्ट फिल्म चटनी में भी काम किया है जिससे उनको दुनिया को देखने का एक नया दृष्टिकोण्ड मिला. उनकी इस फिल्म को फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड से सम्मानित किया गया है.टिस्का का कहना है कि उन्हें कहानियाँ सुनाना उन्हें सबसे ज़्यादा पसंद है.

टिस्का के अनुसार किसी भी फिल्म में सफलता प्राप्त करने के लिए ज़रूरी है की अभिनेता या अभिनेत्री स्वयं को न भूले क्योंकि उनकी खामियां

उन्हें अद्वितीय बनाती हैं. टिस्का काफी समय से बुद्धिज़्म को मानती आ रही हैं. उन्होंने अपने इस धर्म के विषय में कहा कि बुद्धिज़्म उनका मार्गदर्शन करता है क्योंकि एक्टिंग एक ऐसी फील्ड है जहाँ इनसान अकेला पड़ सकता है.

तारें ज़मीन पर में टिस्का चोपड़ा ने एक माँ का किरदार निभाया. इस फिल्म ने उनको दर्शकों की आँखों में बहुत ही लोकप्रिय बना दिया. सिनेमा के बारें में टिस्का का कहना है की सिनेमा को निरंतर परिवर्तन की ओर बढ़ना चाहिए क्योंकि यदि सिनेमा ऐसी फिल्म नही बनाएगा जो लोगों को सोचने पे मजबूर करें तो सिनेमा का काम व्यर्थ है. सिनेमा में बदलाव आने पर ही समाज में बदलाव आ सकता है.

उन्होंने शी.डी.पीपल.टीवी द्वारा लिए गए इन्तर्विएव में ये भी कहा कि वह ऐसे किरदार करने पसंद करती हैं जिनमें उन्हें महत्वव मिले. वह अमिताभ बच्चन कि माँ का किरदार निभाने के लिए भी तैयार हैं अगर उस किरदार से उनकी लोकप्रियता और बढ़ती है.

टिस्का के पति एक पायलट हैं. अपने काम में व्यस्त रहने के बावजूद भी वह इस प्रकार से योजनाएँ बनाते हैं जिससे वह एक दुसरे और अपनी बेटी के साथ अधिकतम समय बिता सकें. वह वास्तविक जीवन में एक पत्नी और एक माँ का किरदार बहुत अच्छे से निभाती हैं.उनका परिवार और उनके दोस्त उनके जीवन में एक अहम भूमिका निभाते हैं.

समाज में महिलाओं के विषय में उन्होंने कहा कि जबभी महिलाएँ किसी विषय में अपनी आवाज़ उठाना चाहती हैं, तो उनको चुप करा दिया जाता है. वह बॉलीवुड में उस समय का इंतज़ार कर रही हैं जब कोई अभिनेत्री एक असामान्य महिला का किरदार निभाए और उससे लोगों से लोकप्रियता मिलें.

इतने विविध किरदार निभाने के लिए और सदा दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए टिस्का की सराहना करते हैं और आशा करते हैं की यह बॉलीवुड में अपना स्थान बनाएँ रखें

बुलंदियाँ छू रही टिस्का चोपड़ा की फिल्म को मिला फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड

अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने अपनी बेहतरीन काम की मदद से बॉलीवुड में अपनी सफल जगह बना ली है. टिस्का को बॉलीवुड में २३ साल हो चुके हैं. हाली में उन्होंने एक शार्ट फिल्म चटनी में भी काम किया है जिससे उनको दुनिया को देखने का एक नया दृष्टिकोण्ड मिला. उनकी इस फिल्म को फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड(…)

  • सोशियल बज़्ज़ - चेक इट आउट!!

टॉप स्टोरीस

See more

बुलंदियाँ छू रही टिस्का चोपड़ा की फिल्म को मिला फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड

बुलंदियाँ छू रही टिस्का चोपड़ा की फिल्म को मिला फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड

अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने अपनी बेहतरीन काम की मदद से बॉलीवुड में अपनी सफल जगह बना ली है. टिस्का को बॉलीवुड में २३ साल हो चुके हैं. हाली में उन्होंने एक शार्ट फिल्म चटनी में भी काम किया है जिससे उनको दुनिया को देखने का एक नया दृष्टिकोण्ड मिला. उनकी इस फिल्म को फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड(…)

More

मेरील के भाषण ने किया अनुष्का को सोशल मीडिया पर नोट लिखने के लिए प्रेरित

मेरील के भाषण ने किया अनुष्का को सोशल मीडिया पर नोट लिखने के लिए प्रेरित

गोल्डन ग्लोब्स अवार्ड्स पर अपने भाषण के द्वारा, अभिनेत्री मेरील स्ट्रीप ने लोगों का दिल जीत लिया है. बॉलीवुड की अभिनेत्री अनुष्का शर्मा उनके इस भाषण से बहुत प्रेरित हुई और इन्होंने सोशल मीडिया पर एक नोट लिखा. स्ट्रीप को गोल्डन ग्लोब्स में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया था. उन्होंने एक घटना का(…)

More

बेंगलुरु घटना पर वायरल हुआ मलाइका अरोड़ा का इंस्टाग्राम पोस्ट

बेंगलुरु घटना पर वायरल हुआ मलाइका अरोड़ा का इंस्टाग्राम पोस्ट

मलाइका अरोड़ा खान ने इंस्टाग्राम के द्वारा एक काली फोटो पोस्ट की है जिससे वह बेंगलुरु में हुए मास  मोलेस्टेशन के खिलाफ अपना गुस्सा ज़ाहिर कर सके. उन्होंने उस पोस्ट के द्वारा महिलाओं की सुरक्षा और विक्टिम बलैमिंग पर कुछ सवाल उठाये. यह नोट सबसे पहले दर्शन मांडकर द्वारा शेयर हुआ था उनका पोस्ट कहता(…)

More

5 रोजमर्रा की चुनौतियाँ जिनका महिलाओं को करना पड़ता हैं सामना

5 रोजमर्रा की चुनौतियाँ जिनका महिलाओं को करना पड़ता हैं सामना

भारत में एक महिला होना अपने आप में एक चुनौती है.वैसे तो यह देश सालों से महिलाओं के लिए असुरक्षित है पर कुछ ऐसी रोजमर्रा की समस्याएँ  भी हैं जिन  पर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया जाता. बहुत शर्म की बात है की इस धरती पर रहने वाली ५० % आबादी को अपने शरीर के बारें(…)

More

२०१७ में अपने आप को प्रोडक्टिव रखने के आठ तरीके

२०१७ में अपने आप को प्रोडक्टिव रखने के आठ तरीके

साल २०१७ शुरू हो गया है. यह साल एक उम्मीद की एक नई किरण लेकर आएगा. नए साल के ३ दिन ग़ुज़र भी चुके हैं. आइये जानिए की किस प्रकार आप २०१७ में ज्यादा उत्पादक रह सकते हैं. १. ज्यादा चीज़ों के लिए “हाँ” बोलिये अपनी छुट्टी के दिन ट्रैकिंग पे जाना, किसी जानवर को(…)

More

मिथाली राज वर्ल्ड कप क़ुअलिफ़िएर्स में भारतीय महिला क्रिकेट टीम का नेतृत्व करेंगी

मिथाली राज वर्ल्ड कप क़ुअलिफ़िएर्स में भारतीय महिला क्रिकेट टीम का नेतृत्व करेंगी

मिथाली राज कोलोंबो में होने वाले  वर्ल्ड कप क़ुअलिफ़िएर्स में १४ खिलाड़ियों की टीम का नेतृत्व करेंगी. यह मैच ३ फरवरी से लेकर २१ फरवरी के बीच होंगे. इंडियन टीम आखरी बार बैंकाक में हुए एशिया कप में देखी  गयी थी. इस टीम के दो प्रमुख खिलाड़ी हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना इस समय ऑस्ट्रेलिया(…)

More

Share Your Stories:

Discussions

Blogs

Events