About the Video

जिला बांदा, कस्बा बांदा आज के बदलत जमाना मा मेहरिया हर क्षेत्र मा काम करत हैं। मनसवा के या समाज मा मेहरिया सबै जघा आपन काम करै के कोशिश करत हैं। यहिनतान का काम कइ देखाइस है, गायत्री गुप्ता बस मा कंडेक्टर का शुरु करिस हवैं।

आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता से

गायत्री गुप्ता का कहब है कि 19 दिसम्बर 201 6 का मैं महिला कंडेक्टर के पद मा काम करब शुरु कीने हौं। या काम करै मा मोहिका कउनौ परेशानी नही होत आय। घर अउर विभाग का पूर पूर सहयोग मिलत हैं। भीड़ मा सवारिन के कारन मोहिका चुनौती मिली है।
सवारी अपने से टिकट कटवा ले तौ भीड़ मा बहुतै सहयोग मिलत हैं। कंडेक्टर खातिर 13 दिन के ट्रेनिंग भे रहैं। जेहिमा कानपुर, कर्वी, अउर कालिंजर जइसे जघा मा गइंव हौं।
एक दिन मा एक या दुइ चक्कर लगावै का पड़त है। एक महीना मा 22 दिन के डयूटी रहत है, जेहिमा 4 हजार किलोमीटर चले का होत है। अबै तक मनसवन का बस कंडेक्टर के रूप मा देखत रहै पै अब मेहरिया का भी कंडेक्टर के रूप मा देखिहैं।

रिपोर्टर- मीरा देवी
Khabar Lahariya

आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता से

जिला बांदा, कस्बा बांदा आज के बदलत जमाना मा मेहरिया हर क्षेत्र मा काम करत हैं। मनसवा के या समाज मा मेहरिया सबै जघा आपन काम करै के कोशिश करत हैं। यहिनतान का काम कइ देखाइस है, गायत्री गुप्ता बस मा कंडेक्टर का शुरु करिस हवैं। आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता(…)

  • सोशियल बज़्ज़ - चेक इट आउट!!

टॉप स्टोरीस

See more
जानिए किस प्रकार एक घर सहायक से प्रेरित हुई एक महिला उद्यमी

जानिए किस प्रकार एक घर सहायक से प्रेरित हुई एक महिला उद्यमी

शगुन सिंह बरुहा अपने घर पर काम करने वाली सहायक  को अपने स्टार्टअप “होमवर्क” के लिए श्रेय देती हैं. होमवर्क एक “फुल हाउस डीप क्लीनिंग” सर्विस प्रोवाइडर है हो डेल्ही के घरों में अपनी सेवाएं प्रदान करते हैं. शगुन अपनी एन्त्रेप्रेंयूरल जर्नी के विषय में बात करती हैं. उन्होंने काफी चुनौतियों का सामना किया और(…)

More

हम कब महिलाओं के सही गुणों को महत्वव देना शुरू करेंगे?

हम कब महिलाओं के सही गुणों को महत्वव देना शुरू करेंगे?

हमारे समाज में, महिलाओं को उनकी सुंदरता के लिए सरहाया जाता है और यदि वह सुंदरता के सामाजिक मानकों को नही मिल पाती तो आसानी से स्वीकार नही किया जाता. कुछ मामलों में, महिलाओं की सुंदरता ही उनका जीवन में आगे बढ़ने का या असफलता का कारण बन जाती है. शीदपीपल.टीवी ने अनेक महिलाओं से(…)

More

भारत की कोकिला : सरोजिनी नायडू

जब हमें भारत की स्वतंत्रता सेनानी की बात करते हैं, ऐसे बहुत ही कम नाम है जिनको याद किया जाता है. महात्मा गाँधी, जवाहरलाल नेहरू और भगत सिंह. ऐसे कई और नाम भी हैं. हो सकता है उनपर कोई फिल्म ना बनी हो पर भारत को स्वतंत्र बनाने में उनका योगदान महत्वपुर्ण है. सरोजिनी नायडू(…)

More

वंडरफुल वर्ल्ड की फाउंडर शिबानी विग हुई एक सोलो बस ट्रिप से प्रभावित

वंडरफुल वर्ल्ड की फाउंडर शिबानी विग हुई एक सोलो बस ट्रिप से प्रभावित

“जब भी मैं घर से समर कैंप के लिए निकलती थी, मुझे अपने माता-पिता के साथ बहार जाने का अनुभव महसूस होता था”, कहा वंडरफुल वर्ल्ड की फाउंडर शिबानी विग ने. दिल्ली में स्थित शिबानी एक फोजी की पुत्री हैं. इसी कारण वह देश के विभिन्न भागों में रही हुई हैं. उनके इस अनुभव ने(…)

More

आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता से

आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता से

जिला बांदा, कस्बा बांदा आज के बदलत जमाना मा मेहरिया हर क्षेत्र मा काम करत हैं। मनसवा के या समाज मा मेहरिया सबै जघा आपन काम करै के कोशिश करत हैं। यहिनतान का काम कइ देखाइस है, गायत्री गुप्ता बस मा कंडेक्टर का शुरु करिस हवैं। आइए मिलते हैं बाँदा की महिला कन्डक्टर गायत्री गुप्ता(…)

More

इरा त्रिवेदी : योग ने मुझे एक लेखिका बनने में की मदद

इरा त्रिवेदी : योग ने मुझे एक लेखिका बनने में की मदद

इरा त्रिवेदी भारत की सबसे लोकप्रिय लेखकों में से एक है. मुझे इनके द्वारा लिखी गयी किताबों से लगाव होना तब शुरू हुआ जब मैंने ” देयर इस नो लव न वाल स्ट्रीट” पढ़ी. यह किताब एक ऐसी महिला के बारें में है जिससे बता चलता है की इन्वेस्टमेंट बैंकिंग की दुनिया कितनी झूठी है.(…)

More

Share Your Stories:

Discussions

Blogs

Events